“इस किन्नर की खूबसूरती को देखकर ऐश्वर्या राय भी रह गयी हैरान, आप भी देखें तस्वीरें नहीं देखी ऐसी ब्यूटी

1249

कहना गलत नहीं होगा की ईश्वर ने इस दुनिया में इंसानों को तीन रूपों में बनाया है स्त्री, पुरुष और किन्नर. हमारे समाज में स्त्री पुरुष को तो सम्मान की नजरों से देखा जाता है लेकिन किन्नर को हमारे समाज में वो स्थान नही दिया जाता जिसके वो हकदार होते हैं. किन्नर को अक्सर हमारे समाज में शादी और बच्चे के जन्म के अवसर पर नाचते गाते देखा जाता है. आज हम आपको एक ऐसी किन्नर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी खूबसूरती देख कर ऐश्वर्या राय भी हैरान रह गयी. आईये आपको बताते हैं की कौन है ये खुबसूरत किन्नर.

 

आपको बता दें की आज हम जिस किन्नर की खूबसूरती का जिक्र आपसे कर रहे हैं वो असल में इंडिया में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी काफी मशहूर है. बता दें की ये खुबसूरत किन्नर थाईलैंड की रहने वाले है और इसकी बेमिशाल खूबसूरती पर आज पूरी दुनिया फ़िदा है. शेखर नाम के इस किन्नर के जन्म के बाद इसके माता पिता ने बिल्कुल भी धैर्य नहीं खोया और उसके शारीरिक बनवत के अनुसार ही शेखर का पालन पोषण किया. वाकई में इस किन्नर के माँ बाप की दाद देनी चहिये जिन्होनें समाज के सभी छोटी मानसिकता को पीछे छोड़ते हुए अपने बच्चे का साथ कभी नहीं छोड़ा.

हमारे समाज में आज भी लोग किन्नर बच्चा पैदा होने पर उसका त्याग कर कर देते हैं ऐसे में शेखर के माता पिता ने उसके लिए जो किया है वो वाकई में सराहनीय है. आज शेखर एक पढ़ी लिखी लड़की की तरह ही अपना जीवन जी रही है और उसकी खूबसूरती ऐसी है की एक बार कोई देख लें तो देखता ही रह जाए. शेखर की इन तस्वीरों को देखकर आप भी उसकी खुबसुरती के दीवाने होने से खुद नहीं रोक पायेंगे.

आपको बता दें की थाईलैंड एक मात्र ऐसा देश है जहाँ पर किन्नरों के लिए ब्यूटी कांटेस्ट का आयोजन किया जाता है. थाईलैंड में हर साल होने वाले इस प्रतियोगिता में शेखर ने भी इस साल हिस्सा लिया था और आप यकीन नहीं करेंगे की उसकी खूबसूरती की वजह से उसने कांटेस्ट में पहला स्थान भी पाया है. बता दें की थाईलैंड में होने वाले इस किन्नर प्रतियोगिता में हिस्सा लेने दुनिया भर के किन्नर आते हैं और उनमे से किसी तीस का चुनाव कर उन्हें ही कांटेस्ट में हिस्सा लेने का मौका मिलता है.

इस बार के इस किन्नर ब्यूटी कांटेस्ट में शेखर ने तीस प्रतिभागियों को पीछे छोड़ते हुए प्रथम स्थान प्राप्त किया है. आपको बता दें की थाईलैंड में इस किन्नर ब्यूटी कांटेस्ट की शुरुवात 2004 में की गयी थी और तब से आजतक हर साल थाईलैंड में इस तरह एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है. वाकई में थाईलैंड ने किन्नरों को समाज में एक रेस्पेक्टिव दर्जा देने के लिए जो कदम उठाया है वो वाकई में सराहनीय है और हमारे देश को भी इस तरफ कुछ सरहनीय कदम जरूर उठाना चहिये तभी जाकर यहाँ भी किन्नरों की हालत में सुधार हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here